कुफ़्र-काफिर पर ऐतराज नहीं, झांट-झंटुए और *टुए पर है ? (निबंध)

परसों तक सब्र ही तोड़ते थे, कल कुफ़्र भी तोड़ दिया । सब्र का क्या है साहब । हम लोग काफिर हैं, बारह सौ साल से बुतशिकनों की नफरत खत्म होने का इंतज़ार कर रहे हैं । कश्मीर में आज भी हमारे लोग मारे जा रहे हैं । शर्म बस हमें आती नहीं । क्रिकेट…

Shiva Keshavan – Leander of Luge, Winter Olympian of Repute

Leander Paes is the toast of the nation, having participated in a record seven Summer Olympics. Shiva Keshavan is a virtual unknown despite having taken part in six winter editions of the Games. Average Indians might be hard-pressed at recalling even the names of the venues of these six Winter Games, but hey, in India,…

संसारपुर – हॉकी का गाँव

आबादी बमुश्किल चार हज़ार, पर हॉकी ओलम्पियनों की भरमार, जलंधर छावनी के बगल में बसा ग्राम संसारपुर, अंग्रेजों को देख-देख लड़कों को चढ़ा हॉकी का सुरूर, शहतूत की टहनी कर गई कुंडी का काम, धागों को बांध माताओं ने दिया खुद्दो का नाम, खेल ‘खुद्दो-कुंडी’ पहुँच गए एम्स्टर्डम ठाकुर चंद,         (ओलंपिक 1928) धीरे-धीरे हॉकी बन…